Love Shayari Tum ho sirf Tum ho

तुम हो सिर्फ तुम हो

महकती सुबह में रोंनके गुल तुम हो

हसीं नाजनीन चचंल फूल तुम हो

तुम्ही शबनम के कतरो की चांदनी

तुम्ही राहो में बिखरे हुस्न की महफ़िल

तुम ही सरिता की सलवटे

तुम ही नीरज की किरण

तुम हो मीठी पवन की लहर

तुम हो रजनी गंधा की महक

तुम हो सिर्फ तुम हो

 

Tum ho sirf Tum ho

Mahakti subah me ronake gul tum ho

Haseen naajaneen chanchal phool tum ho

Tumhi shabanam ke kataro ki chaandanee

Tumhi raaho me bikhre husn ki mahfil

Tum hi sarita ki salvate

Tum hi neeraj ki kiran

Tum ho meethee pavan ki lahar

Tum ho rajani gandha ki mahak

Tum ho sirf Tum ho