Sad shayari Nazar anajaan na thi 

इतनी तो नज़र अनजान न थी

ना कभी बेगाने थे

मुँह मोड़ के क्यों जाते हो

आप तो हमारे दीवाने थे

 

Itanee to nazar anajaan na thi

Na kabhi begaane the

Muh mod ke kyon jaate ho

Aap to hamaare deevaane the