sad love shayari , बहार का मौसम है

बहार का मौसम है और गुलशन वीरान पड़ा है

नाराजी आपकी बयां कर रहा है

 

Bahaar ka mausam hai aur gulashan veeraan hai

Sharanajee aapakee bayaan kar rahee hai

Leave a comment