Hindi love shayari , बेचैन है

एक तरफ तो फूलो का चमन है जो कदमो में बिछाने को बेचैन है

एक तरफ वो है जो कदम गिन-गिन कर रखते है

 

Ek taraph to phoolo ka chaman hai jo kadamo mein bichhaane ko bechain hai

Ek taraph vo hai jo kadam gin-gin kar rakhate hai

Leave a comment