Dard shayari – Tamasha

तमाशा बन गया मेरा जब से तूने नज़र चुराई हे मुझ से

जब तक साथ था मेरे दुनिया मेरे लिए तमाशा थी

 

Tamaasha ban gaya mera

Jab se toone nazar churaee he mujh se

Jab tak saath tha mere

Duniya mere lie tamaasha thee

Leave a comment