Chand Love Nature Shayari

देखा बहोत हमने मगर चाँद नज़र नहीं आया

छाया रहा उस पर काली घटा का साया

 

Dekha bahot hamane magar chaand nazar nahin aaya

Chhaaya raha us par kaalee ghata ka saaya