सेड लव शायरी – ज़ख्म

दिल को ज़बाँ क्या मिली

सारे ज़ख्म बोल पड़े

कब मिले थे , कब प्यार हुआ ,

कब बिछडे कब दिल टुटा

 

Dil ko zabaan kya milee

Saare zakhm bol pade

Kab mile the , kab pyaar hua ,

Kab bichhade kab dil tuta